एड़ी का दर्द क्या है? लक्षण, कारण और उपाय

1
360
Heel Pain in Hindi

एड़ी में दर्द ( Heel Pain in Hindi ) होना आजकल एक आम समस्या हो गई है। एड़ी के दर्द में आमतौर पर पीड़ित को एड़ी के निचले इस समय दर्द होने लगता है। यह दर्द काफी गंभीर और असहनीय भी हो सकता है।

लेकिन इस दर्द से आपके स्वास्थ्य पर कोई खतरा पैदा नहीं होता है। एड़ी में होने वाला दर्द आमतौर पर हल्का ही होता है और ज्यादातर मामलों में यह अपने आप ही ठीक हो जाता है। लेकिन कुछ मामलों में यह दर्द निरंतर और लंबे समय तक बना रहता है।

एड़ी में होने वाले दर्द के लक्षण: Heel Pain Symptoms in Hindi

Heel Pain Symptoms in Hindi

एड़ी में होने वाला दर्द आमतौर पर धीरे धीरे शुरू होता है। एड़ी में होने वाला दर्द बिना किसी चोट के भी शुरू हो जाता है। यह दर्द आमतौर पर फ्लैट जूते और चप्पल पहनने से भी हो सकता है।

एड़ी के दर्द के मामलों में ज्यादातर देखा गया है, कि यह दर्द पैर के नीचे और एड़ी के सामने वाले हिस्से में होता है।

सुबह बिस्तर से उठने के बाद और दिन में काफी लंबे समय तक आराम करने के तुरंत बाद यह लक्षण और भी गंभीर हो जाते हैं। थोड़ा सा चलने फिरने के बाद इन लक्षणों में हल्का सुधार होता है।

एड़ी में दर्द के कारण: Heel Pain Causes in Hindi

Heel Pain Causes in Hindi

मोच आना या मांस फटना:

इंसान के पैर में मोच आना या मांस फटना उनके शारीरिक गतिविधियों के कारण आने वाली चोटें होती हैं। ऐसे समय में पीड़ित के साथ पेश आए हादसे के आधार पर चोट मामूली या गंभीर हो सकती है।

फ्रैक्चर:

फ्रैक्चर के समय हड्डी टूट जाती है और आपातकालीन चिकित्सा की आवश्यकता होती है। ऐसे समय में आवश्यक देखभाल की जरूरत पड़ सकती है।

रिएक्टिव गठिया:

यह घड़ी का एक प्रकार होता है। जो कि शरीर में होने वाले संक्रमण से उत्पन्न होता है।

स्पॉन्डिलाइटिस:

स्पॉन्डिलाइटिस भी गठिये का एक रूप होता है। जो कि मुख्य रूप से आपकी रीढ़ को प्रभावित करता है। यह आगे चलकर गंभीर सूजन का कारण बन सकता है।

एड़ी में दर्द से बचाव के उपाय: Heel Pain Prevention in Hindi

एड़ी में दर्द के उपाय

खेलते समय रखें ध्यान:

कोई भी खेल खेलते समय एड़ी पर अत्यधिक दबाव डालने वाली कोई भी गतिविधि करने से बचें। खेल के दौरान अच्छे किस्म के जूते पहनें।

सही फुटवियर का करें चयन:

एड़ी के दर्द से बचने के लिए एड़ी पर पड़ने वाले दबाव को कम करने वाले जूते काफी मददगार साबित हो सकते हैं। ऐसे में आरामदायक सोल वाले जूतों का ही चयन करें।

नंगे पांव ना रहे:

कठोर जमीन पर चलते समय जूतों को अवश्य पहनना चाहिए। नहीं तो हमें एड़ी में दर्द की समस्या देखने को मिल सकती है।

अपने वजन का रखें ध्यान:

अधिक वजन वाले व्यक्तियों की एड़ी पर काफी दबाव पड़ता है। ऐसे में वजन घटाने की कोशिश करें।

आराम करना है बेहद जरूरी:

एड़ी के दर्द को कभी नजरअंदाज ना करें। शुरुआती समय में ही खुद को आराम देकर इस दर्द से मुक्ति पाएं।

आइस पैक का करें इस्तेमाल:

एड़ी में होने वाले दर्द के प्रभावित हिस्से पर 10 से 15 मिनट तक आइस पैक लगाकर रखें। आप बर्फ के कुछ टुकड़ों को तोलिया में लपेट कर भी एड़ी के उस हिस्से पर लगा सकते हैं। इससे आपको तुरंत राहत मिलेगी।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here